पाली में घूमने की 48 जगह – Pali Tourist Places in Hindi

Table of Contents

Pali Tourist Places in Hindi

पाली शहर राजस्थान राज्य का एक जिला हैं। जोधपुर सिटी से 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यह एक प्रमुख औद्योगिक शहर हैं। पाली सिटी का प्राचीन नाम पल्लिका या पल्ली नाम से था। पाली शहर के इतिहासकारो के अनुसार पाली शहर एक श्राप नगरी हैं। मतलब पाली या तो जलप्रलय से समाप्त होती थी, या फिर जल का इतना भयानक अकाल पड़ता की लोग पानी के लिए त्राहि-त्राहि करते थे। कुछ लोग पाली छोड़ कर चले जाते थे। फिर पाली शहर के सिद्ध पुरुष चन्दनपूरी जी महाराज यहाँ पर विराजमान थे, तब उन्होंने सोचा, पाली नगरी के लिए कुछ ऐसा किया जाये, ताकि पाली के लोग जल के लिए मरे नही। इसलिए उन्होंने पाली का सबसे बड़ा बांध लखोटिया तालाब बनाया। शहर में बहुत सारे प्राचीन मंदिर, तालाब और पार्क घूमने की जगह है। इस पोस्ट के अंदर आप पढ़ेंगे। पाली के सभी महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों के बारे में और मेरा पाली यात्रा का खास अनुभव।

pali city rajasthan, pali tourism hindi me,

 

72 फिट बालाजी मंदिर

मंदिर की प्रतिमा की ऊंचाई 72 फिट होने के कारण इसका नाम 72 फिट बालाजी मंदिर पड़ा। मंदिर गादीपति, ब्रह्मऋषि, पीठाधीश्वर ओम जी महाराज से मंदिर के इतिहास के बारे में मैंने चर्चा की, तो ओमजी महाराज ने बताया यह राम-लक्ष्मण कंधे पर विराजित  दुनिया की सबसे ऊंची हनुमान प्रतिमा हैं। नेशनल हाईवे 162 पर दाए तरफ यह प्रतिमा बनी हुई हैं। आप बस में सफर करते-करते भी इस प्रतिमा के दर्शन कर सकते हो। मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा में 10 हजार किलो का  रोट (आटे-गुड़ का प्रसाद) यहाँ पर बनाया गया था। और यह प्रसाद उस दिन एक लाख लोगो ने ग्रहण किया। आज भी हर वर्ष यहाँ पर मैला आयोजित होता हैं। शाम को प्रसिद्ध कलाकारों द्वारा भजन प्रोग्राम होता हैं। जब इस मंदिर निर्माण की शुरुआत के लिए जमीन में खुदाई हुई तो 18 फिट गहराई से चमत्कारिक मूर्ति स्वंयम्भू (जमीन से प्रकट) हुई। आप जब भी राजस्थान के पाली शहर में घूमने आओ, तो एक बार इस हनुमान प्रतिमा मंदिर में जरूर आना। यहाँ का वातावरण बहुत ही शांत हैं।

लाखोटिया महादेव और लाखोटिया तालाब

यह पाली शहर का नम्बर एक पर्यटन स्थल हैं। लखोटिया महादेव के पुजारी नटवरलाल जी के अनुसार यह मंदिर पाली का ह्रदय हैं। यह प्राचीन मंदिर 700 साल पुराना हैं। लखोटिया महादेव के पास एक जिला मंच स्थान नामक जगह है, जहाँ पर सिद्ध पुरूष चंदनपूरी जी महाराज रहते थे। उनके बदौलत ही यह लखोटिया तालाब बना है। यह तालाब एक लाख पोट यानी एक लाख आदमी इस तालाब निर्माण के लिए काम करते थे। यह लखोटिया महादेव का इतिहास हैं। लखोटिया नाम एक लाख पॉट से ही पड़ा हैं। तालाब बनाने के बाद तब से लेकर अबतक पाली में कभी पानी की कमी नही आयी। इस मंदिर में महदेव की प्रतिमा स्वंयभू (जमीन से निकली) हैं। और इस प्रतिमा की प्रतिष्ठा चन्दनपुरी महाराज के हाथो से हुई हैं।  उनकी कृपा से यहाँ पर हर साल लखोटिया महादेव का मेला लगता है। और मैले के अंदर राजस्थान के सभी प्रसिद्ध गायक भजनी कलाकार हिस्सा लेते हैं। इस मैले का लाइव टेलीकास्ट भारत सहित 170 देशों में जाता है। यह इस मंदीर की लोकप्रियता का प्रमाण हैं।

 

●  लाखोटिया गार्डन

पाली शहर में सबसे सुंदर, अद्भुत और शांत जगह वाला पर्यटन स्थल लखोटिया पार्क हैं। पाली सिटी के सभी लोग हर सोमवार को यहाँ पर कुछ समय व्यतीत करने आते हैं। यहाँ पर आकर सबका मन खुश हो जाता हैं। लोग घर से आटे के छोटे-छोटे टुकड़े करके लेके आते है। और लखोटिया तलाब में मछलियों को खिलाते हैं। लखोटिया गार्डन लगभग 3 से 5 किलोमीटर क्षेत्रफल में फैला हुआ हैं। आप यहाँ पर नोकायन ( बोटिंग) भी कर सकते हो। मात्र 20 रुपये फीस हैं। इसके अलावा बच्चों के मनोरंजन के लिए बहुत सारे झूले लगे हुये हैं। इसका रखरखाव पूरा नगरपरिषद पाली करता हैं। यहाँ पर लोगो की भीड़ को देखते हुए स्वच्छता का भी पूरा ध्यान रखा गया है। इसके अलावा यहाँ पर पेड़ पर उल्टा लटकती चमगादड़ और जमीन पर विचरण करती गिलहरी आकर्षक का केंद्र हैं।

● पक्षीघर पाली 

यह अभी नया स्टेचू बना हैं। लाखोटिया पार्क के अंदर ही आता हैं। यहाँ पर भी हरियाली हैं और बहुत सारी देखने लायक चीजे मौजूद हैं।

सोमनाथ मंदिर पाली

सोमनाथ मंदिर पाली शहर का सबसे प्राचीन मंदिर हैं। इसके शानदार स्थापत्य के कारण वैज्ञानिकों और इतिहासकारो ने इसका निर्माण काल 9 वी शताब्दी में माना हैं। पाली के सूरजपोल बाजार में स्थित इस मंदिर को वर्ल्ड हेरिटेज संगठन ( यूनेस्को) ने इसे ऐतिहासिक धरोहर  बताया है। इस मंदिर को महमूद गजनवी, नसीरुद्दीन और अन्य कई विदेशी आक्रांताओं ने तोड़ा और मंदिर का बहुत सारा धन लूटा। लेकिन फिर भी यह मन्दिर आज अपने इतिहास और पुरातात्विक शैली के कारण जीवंत हैं। पालीवाल ब्राह्मणों ने इस मंदिर का फिर से जीणोद्धार करवाया। आप जब भी पाली पधारो एक बार सोमनाथ मंदिर के दर्शन जरूर करे, अपने पूरे परिवार के साथ घूमने आये, अच्छा लगेंगा।

बांगड़ म्यूजियम (Muesum in pali)

पाली शहर का एकमात्र और सुंदर बांगड़ संग्रहालय हर राजस्थानी को जरूर देखना चहिये। इसके अंदर आपको सम्पूर्ण पाली जिला व मारवाड़ क्षेत्र का इतिहास चित्रों और पुराने प्रमाणों के साथ देखने को मिलेंगा। पाली जिले के हर शूरवीर योद्धा, महाराजा की चित्र-प्रर्दशनी यहाँ पर लगी हुई हैं। पाली जिले के सभी पुरातत्व महत्व के गांवो की मुख्य जगह से खुदाई में निकली बहुत सारी चीजें आप इस बांगड़ म्यूजियम में देखेंगे। अब नवनिर्मित कक्ष में आदिवासी जनजाति का शानदार दृश्य इसमें दिखाया गया हैं, जो पर्यटकों को काफी पसंद आ रहा हैं। इसके अंदर सबसे पहले आप मुद्रा गैलेरी देखेंगे। जिसमे सभी मुगलकालीन सिक्के रखें गये हैं।

धोला चोतरा सूरज पोल पालीवाल ब्राह्मण

इस जगह के इतिहास के बारे में ज्यादातर लोगो को मालूम नही हैं। यह शहीद स्मारक पाली के सूरजपोल बाजार के मैन मार्केट के अंदर आया हुआ है। यहाँ पर पालीवाल समाज के कुलदेवता का मंदिर बना हुआ हैं वह एक लाख पालीवाल आदिगौड ब्राह्मणो ने संस्कृति की रक्षा के लिए जो बलिदान दिया उसकी स्मृति में बना हैं। मेरी तरफ से उन सभी महान लोगो को शत-शत नमन। यह युद्ध विदेशी आक्रांता गजनी के साथ हुआ था। पालीवाल ब्राह्मणो ने अपने पराक्रम और बहादुरी का परिचय देते हुये पाली को एक वाणिज्यिक मंडी के स्वरूप दिया था। यहाँ के स्थानीय लोगो का कहना हैं, इस स्मारक के नींचे बावड़ी हैं, जिसके अंदर ढाई मण जनेऊ पल्लीवल डाल के गये थे। इस जगह का प्रतिनिधित्व झुंजारजी बावजी ने किया, झुंजारजी नाम इसलिए पड़ा क्योंकि अंग्रेजों से लड़ते-लड़ते उनका धड़ कट गया, फिर कुछ समय तक उनकी तलवार चलती रही।

 

 नवलखा जैन मंदिर

आप पाली घूमने आये और श्री नवलखा पाशर्वनाथ बावन जिनालय जैन मंदिर नही देखा तो क्या देखा?  यह पाली का मुख्य पर्यटन स्थल हैं। यह बात राजस्थान पर्यटन मंत्रालय खुद बोलता हैं। आप इस मंदिर को पाली जिले का सबसे बड़ा जैन मंदिर बोलेंगे, रणकपुर जैन मंदिर के बाद, तो इसमें कोई अतिश्योक्ति नही होंगी। यहाँ पर आपको जैन धर्म के सभी प्रमुख तीर्थंकर के मंदिर व सम्पूर्ण जैन धर्म का इतिहास आप इस मंदिर में देख सकते हो। लगभग 700 साल पुराना यह मंदिर है। प्रतिदिन पूरे भारत से जैन धर्म के हजारो लोग यहाँ पर दर्शन करने आते हैं। मंदिर सभी लोगो के लिए भोजन की भी अच्छी व्यवस्था है। इस मन्दिर इतिहास कुछ इस प्रकार हैं;- सांडेराव गाँव में किसी जैन मंदिर की  प्रतिष्ठा होनी थी, उसमें घी की जरूरत थी, और घी नही मिल रहा था, फिर लोग जैन संत ( मारसब) के पास गये, और बोले मुनिजी मिठाई व घी के बिना तो प्रतिष्ठा होंगी नही तो, जैन मुनि ने बोला तुम चिंता मत करो सब हो जायेंगा। फिर पाली में एक सेठ था;- नवलखा जैन उसके पास घी पड़ा था। फिर जैन मुनि ने विद्या द्वारा वो सारा घी सांडेराव गांव में  मंगवा दिया और  धूमधाम से प्रतिष्ठा सम्पन हुई।  फिर लोगो ने बोला, मुनिजी आपने घी कहाँ से मंगवाया तो उन्होंने जवाब दिया घी पाली के नवलखा सेठ के वहाँ से आया हैं। फिर लोगो ने उन्हें पैसे देने की कोशिश की परन्तु नवलखा सेठ ने पैसा लेने से मना कर दिया। बोला यह घी शुभ कार्य में लगा हैं, तो मैं इसका पैसा कैसे ले सकता हूँ। बस इसी कारण इस मंदिर का नाम नवलखा जैन मंदिर पड़ा।

 

 महाराणा प्रताप स्मारक

महाराणा प्रताप स्मारक जन्मस्थली भी पाली में एक अच्छी घूमने की जगह हैं। इस जगह के अंदर महाराणा प्रताप की शानदार प्रतिमा और गोला-बारूद की तोपे आपको देखने को मिलेंगी। जैसे ही आप इसके अंदर प्रवेश करोंगे, आपको माता रानी भटियाणी का मंदिर के दर्शन होंगे, अबीवीपी, बजरंग दल व विश्व हिन्दू परिषद के कार्यालय भी दिखेंगे। इसके अलावा अंदर अच्छा प्राकृतिक चिकित्सा व  सरकारी आयुर्वेद हॉस्पिटल भी बना हुआ हैं। आयुर्वेद हॉस्पिटल के अंदर भी जरूर जाएबहुत सारी स्वास्थ्य की नई काम आने वाली जानकारी देखने को मिलेंगी।

 

लोर्डिया तालाब

लोर्डिया झील का नाम भी पाली शहर के टॉप टूटिस्ट प्लेस में गिना जाता हैं। यह 12 महीने पानी से खचाखच भरा रहता हैं। लोर्डिया झील पर एक बहुत बड़ा पुल (ब्रिज) बना हुआ है। उसके ऊपर चढ़कर इस मनमोहन दृश्य का आप आनंद उठा सकते है  ब्रिज के आगे करनी माता मंदिर हैं, आप वहा पर कुछ समय बिता सकते हो। इसके अलावा आपको बाहर से ही यह झील देखनी हैं, तो आप दधीचि बस स्टैंड के पास खड़े होकर भी देख सकते हैं।

 

साइंस पार्क

साइंस पार्क पाली के युवाओ का फेवरेट टूटिस्ट प्लेस बन चुका हैं। यहाँ पर हर समय बच्चे आपको झूला – झूलते हुए दीखेंगे। यहाँ पर नगरपरिषद पाली द्वारा सुबह कसरत और व्यायाम करने के लिए बहुत सारे फिटनेस के उपकरण लगाये गये हैं। इस कारण सुबह – सुबह सभी शहरवासी यहाँ पर कसरत करने आते हैं।

 

मानपुरा भाकरी [Manpura bhakri]

जी बिल्कुल दोस्तो, यह पाली शहर का एक दबा हुआ ऐतिहासिक पर्यटन स्थल है। इस पहाड़ी से आप पूरे पाली शहर का सुंदर दृश्य देख सकते हो। पाली से महज एक किलोमीटर दूर इस गाँव में बहुत सारी प्राचीन चीजें आपको देखने को मिलेंगी। अगर आपको एकदम शांत जगह मे घूमना पसंद हैं, तो मानपुरा भाकरी जरूर जाये, आपने दोस्तो और परिवार के साथ जाओगे, किसी उत्सव या पार्टी मनाने तो यह जगह सबसे बढ़िया हैं। पहाड़ी पर मंदिर है और खुला आसमान, शुद्ध हवा और पूरा प्राकृतिक वातावरण है। पर्यावरण-प्रेमी अवश्य इस जगह पर जाये। पहाड़ी के ऊपर दुर्गा माता मंदिर हैं। और गाँव में प्रवेश करते ही भगवान महादेव का 400 साल पुराना मंदिर बना हुआ, उसके दर्शन भी जरूर करे। इसके अलावा पहाड़ी पर एक जैन मंदिर भी बना हुआ है। जो इतिहास के छात्र हैं या कोई पुरातत्व विभाग से हैं, तो वो यहाँ पर जरूर आये, बहुत कुछ सीखने को मिलेंगा।

 

अनसुने पाली के पर्यटन स्थल (All Travel & Adventure Activities in Pali City Hindi Me)

Pali me ghumne ki jagah, Pali kaha par hai,
1. Adventure Activity in Pali City Rajasthan – 
साहसिक गतिविधिया वो भी बिल्कुल निशुल्क!! क्या यह पाली में संभव है? जी बिल्कुल!! आप पाली के फुलाद गांव से होकर जोगमंडी प्राकृतिक झरने में नहाने का आनंद ले सकते हैं। यही पर आपको गोरमघाट रेलवे स्टेशन जाने के लिए ट्रेन मिल जायेगी। इन ऊंचे-ऊंचे रेलवे ट्रैक पर चलकर आप सेल्फी का आनंद भी ले सकते है। फुलाद से गोरमघाट की रेलयात्रा आपको तीन बार से अधिक एडवेंचर एक्टिविटी का अहसास करवायेगी।

2. Waterpark in pali –
पाली शहर में एक भी अच्छा वाटरपार्क नही है। जो आप नेट पर देखते हैं वो पाली नाम का मुम्बई में एक बीच है। वाटरपार्क का मजा लेने के लिए तो आपको नजदीकी शहर जोधपुर जाना होंगा।

3. पाली में झरने – Waterfalls in Pali 
देवगढ़ कामलीघाट जाते समय एक कालीघाटी नाम से रोड आता है। यहाँ पर एक छोटा सा राजस्थानी लोक देवता का देवस्थान बना हुआ है इसी छोटे देवस्थान के सामने ‘भीलबेरी पारिस्थितिकी’ (Bheelberi Eco Tourism) नाम से एक वन्य उद्यान है जहां पर आपको राजस्थान का सबसे ऊँचा झरना दिखाई देंगा। यही पर एक मिल्ट्री ट्रेनिंग का स्थान भी बना हुआ है। जिसको आप ट्राय कर सकते है। दूसरा झरना मैने आपको ऊपर बता दिया है।

4. Talkies, Cinemas, Movies theater in Pali in Hindi  
पूरे पाली में दो सिनेमाघर बने हुए हैं। जिसमें सबसे अच्छा Manthan Talkies है जो रेलवे स्टेशन रोड पर आया हुआ है। इसके अलावा एक मूवी देखने के लिए सूरजपोल पर भी है। लेकिन यहाँ पर सिर्फ अश्लील फिल्मे ही परोसी जाती है। नयी मूवी आप यहाँ नही देख पायेगे।

5. पाली में मॉल – Shopping Mall in Pali City
पाली में सबसे बड़ा शॉपिंग मॉल रिलायंस व राणा मॉल है। इसके अलावा अन्य छोटे-छोटे मॉल बहुत बने हुए है।

 

पाली कैसे पहुँचे? How to reach Pali?

बहुत सारे राजस्थानी व देश के अन्य राज्यो में निवास कर रहे है लोगो के मन में यह सवाल उठता है की “पाली कहाँ पर है” इसका जवाब यह है की पाली राजस्थान राज्य का एक जिला व शहर है।

How to reach Pali by Train
पाली शहर में एक रेलवे स्टेशन बना हुआ है। देश के सभी शहरों से यहाँ पर ट्रेन नही आती है। आप ऑनलाईन देख सकते है, अगर सीधे पाली के लिए ट्रेन आ रही है तो ठीक है वरना आप मारवाड़ जंक्शन रेलवे स्टेशन पर आ जाइये। यहाँ से पाली मात्र 30 किलोमीटर है। जो की आधे घण्टे का रास्ता है।

How to reach Pali by Flight
हवाई जहाज के माध्यम से पाली आने के लिए आपको नजदीकी जोधपुर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर आना होंगा। यहाँ से आपको पाली के लिए कैब/बस/रेल की सुविधा मिल जायेगी।

How to reach Pali by Bus
सबसे अच्छी बात पाली शहर आप स्लीपर कोच या वातानुकूलित बस से सीधे जोधपुर में आ सकते है।

पाली शहर के प्रसिद्ध बाजारों के नाम [ Pali Market in Hindi ]

पाली का बाजार कपड़ो के लिए प्रसिद्ध हैं। यहाँ पर पाली की सबसे बड़ी कपड़ा मिल्स बनी हुई हैं। जिसका नाम हैं;- महाराजा उम्मेद सिंह मिल्स। यह कपड़ा फैक्टरी 3 किलोमीटर के दायरे में फैली हुई हैं। इसके अलावा पाली का सबसे प्रसिद्ध बाजार हैं;- सूरजपोल। इस बाजार में आपको सभी प्रकार की आपके जरूरत का समान मिल जायेंगा। जैसे;- फ्रेश सब्जियां, कपड़े, भारतीय पेय पर्दाथ (लस्सी), भूने हुये मखन वाले भूटे। आपको स्टेशनरी का सामान चाहिए, तो अली स्टेशनरी पर आपको सभी प्रकार सामान मिल जायेंगा, ये “सर्वोत्तम” पाली के डिस्ट्रीब्यूटर हैं। शॉपिंग करने के लिए बहुत सारे बड़े-बड़े मॉल बने हुये है।भारत की सभी बैंक शाखा पाली में मौजूद हैं। अगर आप एक व्यापारी हो, तो आपके लिए अच्छी खबर यह हैं, की बहुत सारे बिजनेस जो अभी तक पाली में नही खुले हैं, या बहुत सारी पाली के लोगो की मांग हैं, वो आप अपना दिमाग लगाकर उस मांग की पूर्ति कर सकते हो। जैसे;- पर्यावरण प्रदूषण(प्लास्टिक कचरा) पाली शहर की सबसे बड़ी समस्या हैं, तो आप वहाँ पर रेसीयकल प्लांट लगाकर कचरा निस्तारण कर सकते हो, और आराम से 3 से 5 लाख रुपये महीना कमा सकते हो। लेकिन उससे पहले ” “रिसाइक्लिंग प्लांट”कैसे लगाये? यह आपको इंटरनेट से पूरी प्रकिया सीखनी पड़ेंगी। यूटूब पर फ्री वीडियोज आपको मिल जायेंगे।


अभी मैं आपको कुछ ऐसे एरिया का नाम बताना चाहता हूं जिसको पाली सिटी में जाने के बाद अवश्य देखना चाहिए।

१. सूरजपोल –
ये पाली का सबसे लोकप्रिय बाजार है। यहाँ पर आपको अपनी जरूरत की सारी वस्तुएँ मिल जायेगी। जिसमें सब्जी, कपड़े, सोना-चांदी के आभूषण, स्टील के बर्तन इत्यादी शामिल है।
यही पर आप सिनेमा का लुफ्त उठा सकते हैं।

२. नया बस स्टैंड –
ये काफी व्यस्त एरिया माना जाता है। इस एरिया के हाइवे रोड पर बहुत सारी आलीशान होटल बनी हुई है।

३. नहर –
इस एरिया को सावित्री बाई फुले सर्कल व बांगड़ कॉलेज नाम से भी जाना है। इसी क्षेत्र से होकर आप पाली शहर में प्रवेश करेंगे। यहाँ पर बांगड़ महाविद्यालय बना हुआ है इसके अलावा छोटे-छोटे गांवों की ओर जाने वाली प्राइवेट बसे भी इसी जगह रूकती है। इस बात का विशेष ध्यान दे इस ऐरिया में कोई नहर नही बनी हुई है सिर्फ नाम पडा हुआ है।

४. मस्तान बाबा –
मस्तान बाबा मुस्लिम समुदाय का एक धार्मिक स्थल है। यही से होकर जोधपुर जाने वाली बसे गुजरती है। इस क्षेत्र में दरगाह के पीछे बड़ी सब्जी की मंडी बनी हुई है।

५. अम्बेडकर सर्कल –
सूरजपोल मार्केट से दस कदम आगे ही अम्बेडकर सर्कल पर आपको बहुत कुछ मिलेंगा। यही पर बच्चो के लिए एक शानदार मनोरंजक स्थल science Park बना हुआ है। यही पर एक जिम व झील भी बनी हुई है।

६. गांधी मूर्ति –
गांधी मूर्ति एरिया के एक किलोमीटर के अंदर आपको गणेश मंदिर के दर्शन होंगे इसके अलावा शहीद उघान, मंथन टॉकीज का भी आप आनंद ले सकते है।

७. इंद्रा कॉलोनी –
ये नहर के पास आया हुआ एक नया विकसित क्षेत्र है। जिसमें काफी सारे बड़े -बड़े करोड़ो की कीमत के घर बने हुए हैं। इसके अलावा आप पाली में किराए पर घर/रूम लेना चाहते हैं तो भी ये अच्छा एरिया है।

८. रीको इंडस्ट्रियल एरिया –
जेसा की नाम से ही पता चलता है। की यह एक ओद्योगिक क्षेत्र है। यहाँ पर तेल, बेकरी का सामान, साबुन इत्यादी खाद्य और अखाद्य सामग्री का निर्माण किया जाता है।

पाली शहर में सस्ती होटल – Hotel in Pali City

पाली में सबसे सस्ती होटल रेलवे स्टेशन के पास में स्थित है जिसका नाम बांगड़ धर्मशाला है। यहाँ पर 100 से अधिक कमरे बने हुए हैं। बांगड़ धर्मशाला होटल का निर्माण जैन समुदाय के किसी धनी व्यक्ति ने करवाया था। यहाँ पर आप आराम से जितना दिन रुकना चाहो उतने दिन कम पैसो में रुक सकते है। अगर आप एक अच्छी दो सितारा तीन सितारा मतलब 2 Star, 3 star Hotel का आनंद लेना चाहते है। तो भी यहाँ पर आपको कई उम्दा शानदार होटले मिल जायेगी।

पाली शहर के आसपास घूमने के लिए पर्यटक स्थल (nearby Pali city Tourist places)

जाडन आश्रम पाली (om ashram Jadan in Hindi )

मैंने लगभग 10 साल तक लगातार पाली और जाडन गांव के बीच विभिन्न कारणों से यात्रा की लेकिन ओम आश्रम के बारे में विस्तार से कभी जानकारी नहीं मिली। हा इतना जरूर पता था। की यहाँ पर आश्रम है। लेकिन ये राजस्थान एकमात्र सबसे बड़ा आश्रम है। सबसे अच्छी बात यहाँ पर सभी प्रकार की आध्यात्मिक गतिविधियों को आयोजित किया जाता है। ये भी पाली शहर में सबसे प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों में से एक है। Average Time Spent 4 Hours. 

#1. रणकपुर जैन मंदिर –
रणकपुर का जैन मंदिर अपनी स्थापत्य कला शैली के लिए भारत ही नही पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। तभी तो यहाँ पर देश-विदेश लाखो लोग घूमने आते है।

#2. ठाकुर कुशाल सिंह पैनोरमा –

यह पेनोरमा पाली जिले के आऊवा गाँव में मुख्य रोड पर बना हुआ है जो 1857 क्रान्ति के स्वत्रंतता सेनानी ठाकुर कुशाल सिंह को समर्पित है। हर भारतीय को एकबार इस महान Freedom Fighter के शौर्य को आकर इस ऐतिहासिक जगह को जरूर देखना चाहिए। यही पर सुगाली माता की मूर्ति भी रखी गई है जिसको अंग्रेज इंग्लैंड लेकर चले गए थे। काफी मशक्कत के बाद इसको वापस आऊँवा गांव में लाया गया।

#3. खिंवाड़ा बालाजी मंदिर –
खिंवाड़ा पाली जिले के मारवाड़ जंक्शन तहसील में स्थित एक समृद्ध गांव है। यहाँ का बालाजी मंदिर काफी प्राचीन व सबसे अधिक विजिट किया जाने वाला स्थान है। यहाँ पर अप्रैल महीने में शानदार मेले का आयोजन होता है। Khinwara village rajasthan क्यों जाये? इसी मंदिर के नजदीक आपको रावला, चोधरी समाज का आईमाता वडेर मंदिर, जैन मंदिर जेसे कई अच्छी जगह देखने का मौका मिलेंगा।

#4. जवाई बांध (Jawai Dam) –
आपने डिस्कवरी चैनल पर Jawai : A leopard Hills’ डॉक्युमेंटरी तो देखी होंगी। जिसमें जवाई बांध के नजदीक बनी पहाड़ियों पर चित्ते का जिक्र किया गया है। प्रकृति प्रेमियों के लिए यह वाकई में देखने लायक़ जगह है

#5. सोनाणा खेतलाजी –
देसूरी तहसील के सोनाणा गांव में स्थित सोनाणा खेतलाजी का मंदिर काफी प्रसिद्ध है। मारवाडी रीति रिवाज के अनुसार बच्चे के जन्म के कुछ साल बाद यहाँ पर प्रसादी का आयोजन किया जाता है।

#6. मुछल महावीर मंदिर –
घाणेराव रोड, गुड़ा भोपसिंह गांव में 10 वी शताब्दी में बना यह जैन मंदिर हर जैनियों के लिए महत्वपूर्ण है। साथ ही जिनको यात्रा करना पसंद है वे लोग भी जरूर जाये।

पाली यात्रा का कितना खर्चा है? (Pali Travel Expenses in Hindi)

पाली यात्रा का मतलब सिर्फ पाली शहर नही मैं पूरी पाली जिले के अंदर मौजूद मुख्य पर्यटक स्थलों की बात कर रहा हूँ। अगर खाना-पीना, रहना व परिवहन तीनो की बात करूं तो लगभग 30,000 से 50,000 में आप पूरे पाली के सारे 500+ छोटे-मोटे पर्यटक स्थलों का आनंद ले सकते है। लगभग एक महीने से दो महीने का समय आपको गुजारना पड़ेंगा। सिर्फ़ पाली की बात करूं तो मात्र 3,000/- रूपये में पाली शहर घूमने का खर्चा है।

 

पाली शहर के बारे में 5 रौचक तथ्य [ Pali City facts ]

  1.  पाली राजस्थान का दूसरा बड़ा वस्त्र उत्पादन करने वाला शहर हैं।
  2. पाली शहर अपने ” गुलाब हलवे ” के कारण पूरे देश में प्रसिद्ध है। आपको पाली की हर गली- मोहल्ले में गुलाब हलवे की बहुत सारी दुकान दिख जायेंगी।
  3. यह एकमात्र ऐसा शहर हैं, जहाँ की 70% आबादी क्षेत्रीय भाषा बोलती है।
  4. पाली शहर के अंदर बना ऐतिहासिक शहीद स्मारक धोला चोतरा चौक पर एक लाख पालीवाल ब्राह्मणों ने देश के लिए बलिदान दिया था।
  5. पाली शहर में बहुत सारे प्राचीन मंदिर हजारो साल पुराने हैं। भविष्य में बहुत सारी नई पर्यटन को आकर्षित करने की चीजों पर काम चल रहा हैं।

 

पाली शहर, जोधपुर और मारवाड़ जंक्शन से कितना किलोमीटर दूर है? (Pali Distance)

पाली शहर से जोधपुर 67 किलोमीटर दूर है। वही मारवाड़ जंक्शन आप नेशनल हाईवे 162 से मात्र 40 किलोमीटर दूर है।

Pali to Jaipur Distance
नेशनल हाईवे 48 से ब्यावर-पिंडवाड़ा रोड 298 किलोमीटर दूर है।

Pali to Delhi Distance
556 किलोमीटर

Pali to Mumbai Distance
906 किलोमीटर

Pali ke bare mein jankari

Pali Pin Code 306401
Pali Tourism Official Website
Click here
StateRajasthan
Near by Biggest cityJodhpur
Near by Train stationPali Marwar junction
Most popular Tourist placeLakhotiya Garden

Pali City Rajasthan Ke Sawal Aur Jawab

Q1) क्या पाली शहर में Ola and Uber कैब सर्विस उपलब्ध है?

नही। पाली में आपको OLA/UBER cab मिलना मुश्किल है। नजदीकी शहर जोधपुर में उपलब्ध है। ओला-उबर कैब नही होने की वजह से ही पाली शहर के टेक्सी वाले मुँहमाँगी कीमत लेते है। ऐसे में मुसाफिर को मजबूरी में अधिक पैसा खर्च करना पड़ता है।

Q.2) पाली शहर का प्राचीन नाम क्या है?

पेपावती नगरी व पारा पाली का पुराना नाम है। इस शहर का निर्माण पालीवाल समाज ने करवाया। पालीवाल समाज की शौर्य गाथा आप Historical Dhola Chotra Chowk स्मारक पर देख सकते है।

Q.3) भारत का पाली शहर किस चीज के लिए प्रसिद्ध है?

पाली अपने ऐतिहासिक पर्यटन स्थलों, लाखोटिया महादेव मंदिर, नवलखा जैन मंदिर, बांगड़ संग्रहालय व कपड़ो की फैक्टरी महाराजा उम्मेद सिंह मिल के लिए प्रसिद्ध हैं।

Q.4) पाली में कितनी तहसील है?

पाली राजस्थान में कुल सादड़ी, मारवाड़ जंक्शन, सुमेरपुर, बाली, सोजत, बाली व जेतारण, देसूरी सहित ९ तहसील है।

पाली में ऑटो रिक्शा वालो की लूट से कैसे बचें? (How to avoid the loot of auto rickshaw drivers in Pali city Rajasthan?

ये पूरा पैराग्राफ में अपने व्यक्तिगत अनुभव से लिख रहा हूँ। लेकिन इसको लिखने से पहले पाली शहर के ऑटो रिक्शा चालकों ने मुझे खूब लूटा। मतलब जहाँ किराया 15 रूपये होना चाहिए वहाँ ये लोग 50 से 100 रुपये ले लेते थे। लेकिन अभी मैं आपको एक ऐसी ट्रिक बताने वाला हूँ जिससे आप पाली के किसी भी एक एरिया से कितना भी दूर चले जाए, आपको सिर्फ दस रूपये ही देने है। मतलब लंबी से लंबी दूरी का न्यूनतम किराया 10 रूपये है। इसके लिए आपको बड़ा ऑटो देखकर बैठना पड़ेगा। मारवाड़ी राजस्थानी भाषा में बोले तो “मोटो टेम्पो” देखेने बैठणो है। वही अगर आप नॉर्मल छोटे पीले-हरे रंग के रिक्शा में बैठोंगे तो पांच किलोमीटर का 70 से 80 रूपये ले लेगा। उदाहरण के लिए मैं “सूरजपोल पाली” से हाउसिंग बोर्ड कमला नेहरू नगर एरिया में गया तो इसका जाने का अस्सी रूपये लिए वही मैं वापस लौटते समय बड़े ऑटो में बैठा जो की शायद ऑटो रिक्शा मजदूर यूनियन का होंगा उसमें सिर्फ 10 रूपये किराया लगा।

Pali District Tour Guidance

➡️ Sabse pahle aap marwar junction train se pahuche > yaha se pali city 1hr ka distance hai. (Bus mil jayegi)

➡️ Pali City mein Jaate hee aapko step by step neeche ke places ko visit karna hai, jou aap aaram se 6-8hr mein complete kar donge.

1. Lakhotiya Garden
2. Somanath Temple (must visit)
3. Bangar Museum (use Google map direction or ask to local people)

🌆 पाली शहर टूर खत्म। अब आप शाम इधर ही रुकना चाहो तो cheapest hotel बांगड़ धर्मशाला है रेलवे स्टेशन के पास। अब 🗺️ आगे की यात्रा शुरू करते हैं

🌏 Day -2 Tour of Pali District 🌏

➡️ Pali city se ‘Jadan OM ashram’ Visit kijiye ( note – world’s only 🕉️ shape temple construction chalu hai)

➡️ Jadan to marwar bus mein marwar junction aa jaayiye. Aur phir Goram ghat train 🚆 journey ko enjoy kijiye.

SEARCH ON GOOGLE : ‘GORAM GHAT INTERNET GYANKOSH’

🌆 Night Hold Aap Kaamlighat Choraha Par Room lekar kar lijiye.
(Kaamli ghat highway par basaa hua ek town hai jha par bahut saari food & accommodation hotel hai)

🌏 Day 3 Tour of Pali District 🌏

परशुराम महादेव और रणकपुर जैन मंदिर।

➡️ Enn dono tourist place Par mein childhood mein gya thaa. Esliye eski information aap google se Lijiye.

🙏 पाली जिले की यात्रा समाप्त 🙏

 

इन्हें भी पढ़े 

मेरी पुष्कर शहर की यात्रा 

शहर में रहने के फायदे 

Tourism Projects in India

3 thoughts on “पाली में घूमने की 48 जगह – Pali Tourist Places in Hindi”

  1. विनोद जी वैष्णव यह जानकर अच्छा लगा कि आप पाली के निवासी हैं मैं भी पाली से हुं। और इस वेबसाइट (pasandhai.in) पर काम कर रहा हूं.

    Reply

Leave a Comment